15 दिसंबर से सभी राष्ट्रिय राजमार्ग से गुजरने वाले वाहनों पर फास्टैग (Fastag) होना अनिवार्य है।  इसके लागु करने के पीछे यह मक़सद है की टोल प्लाजा पर  होने वाली भीड़ को कम किया जा सके तथा ट्रैफिक जाम की समस्या से निपटा जा सके। 

यह एक आटोमेटिक टोल कलेक्शन तकनीक है जिसमे आपके अकाउंट से टोल टैक्स (Toll Tax) अपने आप कट जायेगा और आपको टोल प्लाजा पर लम्बी लाइन से निजात मिल जाएगी। अंतः आइये विस्तार से  जानते हैं की फास्टैग (Fastag) क्या है और कैसे काम करता है। 

फास्टैग क्या होता है ?(What is Fastag?)

फास्टैग NHAI (National Highway Authority Of India) नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया के द्वारा शुरू की गयी एक सुविधा है जो की RFID (Radio Frequency Identification) रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी के द्वारा संचालित होती है।  इसमें किसी भी गाड़ी जैसे की कार , ट्रक , इत्यादि गाड़ियों की सामने की विंडस्क्रीन पर एक बार कोड (Bar Code) लगाया जाता है और जैसे ही आप टोल प्लाजा पर पहुँचते हो टोल पर लगा स्कैनर आपके बार कोड को स्कैन कर आपके अकाउंट से पैसे काट लेता है और आप बिना रुके या समय गवाएं टोल पार करके अपने रस्ते पर आगे बढ़ जाते हैं। इसके लिए आपको अपने फास्टैग (Fastag) के अकाउंट को रिचार्ज करना पड़ता है। 

कौन से बैंक फास्टैग (Fastag) की सुविधा दे रहे हैं ?

भारत के प्रमुख बैंक जैसे की एक्सिस बैंक(Axis Bank), आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank), HDFC, SBI और PayTM  फास्टैग की सुविधा प्रदान कर रहे हैं इसे आप ऑनलाइन(Online) और ऑफलाइन(Offline) दोनों तरीके से खरीद सकते हैं। 

फास्टैग(Fastag) के लिए आवेदन कैसे करें ?

फास्टैग (Fastag) के लिए आवेदन करने के लिए बैंक की वेबसाइट से सीधा अप्लाई किया जा सकता है इसके लिए  जरुरी दस्तावेज (Documents) और जानकारी  निम्नलिखित हैं 

1 – आपका नाम , पता , फ़ोन नंबर और ईमेल आई डी। 

2 – वाहन की पंजीकरण संख्या या Registration Number (RC ) कॉपी। 

3 – KYC यानि पैन कार्ड, आधार कार्ड या मतदाता पहचान पत्र की कॉपी आदि। 

एक बार फास्टैग (Fastag) खाता बनने के बाद इसे आप फास्टैग एप्प के माध्यम से भी संचालित कर सकते हैं और रिचार्ज करने और अपना कैशबैक भी देख सकते हैं। आपको SMS के द्वारा भी हर ट्रांज़ैक्शन की जानकारी मिलती रहती है। 

कैशबैक (Cashback ):

फास्टैग (Fastag) से टोल टैक्स देने पर आपको 2. 5 प्रतिशत  तक का कैशबैक भी उपलब्ध हो रहा है जो की आपके फास्टैग अकाउंट में ऑटोमैटिक आ जायेगा। 

फास्टैग अकाउंट (Fastag Account) रिचार्ज की सीमा:

फास्टैग अकाउंट आप कम से कम 100(सौ) रुपये और अधिकतम 100000 (एक लाख) तक एक बार में रिचार्ज कर सकते हैं।

निष्कर्ष:

शुरुआत में एक दिसंबर 2019 से फास्टैग (Fastag) को नेशनल हाईवे पर अनिवार्य किया गया था परन्तु बाद में इसे अपडेट करके 15 दिसंबर 2019 कर दिया गया , अगर आपके वाहन पर फास्टैग नहीं है तो आपको नेशनल हाईवे फी (National Highway Fee) के तहत अपने टोल टैक्स से दुगना टोल टैक्स भरना पड़ सकता है इसलिए फास्टैग (Fastag) को अपने वाहन में जरूर लगवाएं और अगर अपने आवेदन नहीं किया है तो आवेदन भी कर दें तुरंत। 

01
Fastag, Fastag- Online Toll Payment, Online कारोबार, Online कारोबार
Fastag, Fastag- Online Toll Payment, Online कारोबार, Online कारोबार

Also Read:

What Is Web Hosting(Hindi)?

Fastag, Fastag- Online Toll Payment, Online कारोबार, Online कारोबार

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please write your E-mail for new updates