ऑनलाइन बिज़नेस आइडियाज (Online Business Idea) और कंप्यूटर के विकास के साथ ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) का नाम लगातार सुनने में आ रहा है तो सोचा  इस विषय की थोड़ी पड़ताल की जाय और आप लोगो को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बारे में हिंदी में (Artificial Intelligence in Hindi) बताया जाय ,इसका सबसे करीब का उदाहरण आपके स्मार्टफोन का स्क्रीन लॉक है जो आपका चेहरा देखते ही खुल जाता है। 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) के बारे में थोड़ी और विस्तृत जानकारी hindi के लिए पढ़ना जारी रखें। 

Definition of Artificial Intelligence- (परिभाषा)

हम कह सकते हैं कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) कंप्यूटर साइंस की एक शाखा है जो इंटेलिजेंस मशीनों के विकास, सोच और मनुष्यों की तरह काम करने पर जोर देती है । जैसे की अमेज़न की अलेक्सा (Amazon Alexa) स्पीच रिकग्निशन से सम्बंधित  उदाहरण (Artificial Intelligence example)  है , प्रॉब्लम सॉल्विंग (Problem solving), लर्निंग और प्लानिंग (Learning and Planning) आदि सब कुछ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) से ही संचालित होता है। आज, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एक बहुत लोकप्रिय विषय है जिसकी  टेक्नोलॉजी (Technology), ऑनलाइन बिज़नेस (Online Business) और व्यापारिक गतिविधियों  में व्यापक रूप से चर्चा की जाती है। कई विशेषज्ञों और उद्योग विश्लेषकों का तर्क है कि AI (इसे शॉर्टकट में AI भी लिखते या कहते हैं )  या मशीन लर्निंग भविष्य है,लेकिन अगर हम चारों ओर देखते हैं, तो हम आश्वस्त हैं कि यह भविष्य नहीं है,यह वर्तमान है ।

Artificial Intelligence History:

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) कंप्यूटर साइंस की एक शाखा है जो रिसर्च  और बुद्धिमान मशीनों के डिजाइन और अध्ययन से संबंधित है। 1 9 56 में डार्टमाउथ (Dartmouth) में हुए सम्मेलन में पहली बार  “आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) ” शब्द का प्रयोग जॉन मैककार्थी (John McCarthy) ने किया  और इसे बुद्धिमान मशीन(Intelligent Machine) बनाने के विज्ञान के रूप में परिभाषित किया था।  इसे हिंदी में कृत्रिम बुद्धिमत्ता(Artificial Intelligence name in  Hindi) भी कहा जा सकता है 

जॉन मैककार्थी (1927-2011) एक अमेरिकी कंप्यूटर वैज्ञानिक और संज्ञानात्मक (Cognitive) वैज्ञानिक थे । मैककार्थी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के अनुशासन के संस्थापकों में से एक थे।

Artificial Intelligence in Hindi, Artificial Intelligence in Hindi, Online कारोबार, Online कारोबार

“The  science and engineering of making intelligent machines (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बुद्धिमान मशीनें बनाने का विज्ञान और इंजीनियरिंग है।)”-John McCarthy

-Definition of Artificial Intelligence by John McCarthy (Image Source Google)

 इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटरों(Electronic Computers ) के विकास के साथ 1940 के दशक में  ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence)  की  अवधारणा पर काम शुरू हो चुका  था  और बुद्धिमान मनुष्यों  की भांति ही  बुद्धिमान मशीनों के निर्माण की सम्भावना पर विचार शुरू हो चुके थे, ऐसे ही बुद्धिमान मशीनों का निर्माण कार्य आगे बढ़ता गया और समय के  साथ विकसित होता गया। 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) के क्षेत्र में 1956  के बाद से एक तेजी और शानदार विकास दर्ज की गई है, शोधकर्ताओं ने बुद्धिमान मनुष्यों की भांति सोचने वाली बुद्धिमान मशीनों के उत्पादन में सफलता हासिल करनी शुरू कर दी थी। 

हमारा स्मार्टफोन Smartphone), कैलकुलेटर(Calculator), प्ले स्टेशन गेम (Play station game ), कार, बैंक और आपका घर(Home ) आदि  सभी दैनिक आर्टिफिशियल  बुद्धि (Artificial Brain) का उपयोग करते हैं; कई बार यह स्पष्ट है कि जब आप  गूगल  से पूछने पर आपको निकटतम गैस स्टेशन की जानकारी मिलती है । कभी-कभी यह कम स्पष्ट होती  है, जैसे कि जब आप अपने क्रेडिट कार्ड पर असामान्य खरीदारी करते हैं और अपने बैंक से धोखाधड़ी चेतावनी नहीं मिलता है। एआई(AI ) हर जगह है, और यह हर दिन हमारे जीवन में एक बड़ा अंतर बना रही है ।

What is the use and purpose of AI?

जब एआई (AI) शोधकर्ताओं ने पहली बार आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) के लक्ष्य के लिए लक्ष्य करना शुरू किया, तो एक मुख्य रुचि मानव तर्क (Human Reasoning )थी।  मानव का यही स्वाभाव ही दुनिया की इतनी तरक्की का कारण भी है। 

एआई (AI) का उपयोग एक छवि की व्याख्या और व्याख्या करने और समझने के लिए किया जाता है -जैसे औद्योगिक(industrial), सैन्य उपयोग (military), उपग्रह फोटो व्याख्या (satelite photo interpretation) आदि।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का लक्ष्य क्या है ?(What is the goal of AI?)

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) का मुख्य लक्ष्य यह की टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल मानव के जीवन को सुगम और सुरक्षित बनाया जा सके।  आज हम AI के इस्तेमाल से मेडिकल और सुरक्षा के क्षेत्र में काफी आगे निकल चुके हैं इसके अलावा पढाई में, नौकरी में , खेल में , लगभग हर क्षेत्र में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग करके बेहतर परिणाम हासिल किया जा सकता है। 

कितने प्रकार के AI होते हैं (How many types of AI ?)

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस चार प्रकार के होते हैं जो की निम्नवत हैं 

1  – Reactive machines

 2 – Limited memory

3 – Theory of mind

4 – Self-awareness

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से सम्बंधित महत्वपूर्ण क्षेत्र (Fields of Artificial Intelligence)

1 – वेब एप्लीकेशन और सॉफ्टवेयर ( Web applications and Software)

2 –  हस्तलिपि पहचानना (Handwriting recognition)

3 – आवाज़ या भाषा पहचानना (Speech recognition)

4 – चेहरा पहचान करना (Face recognition)

5 – कृत्रिम रचनात्मकता (Artificial creativity)

·6 – रणनीतिक योजना बनाना (Strategic planning)

हमारे जीवन में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कितना महत्वपूर्ण है ? (How important is AI in  our daily life ?)

AI  वे मशीनें हैं जो डिजाइन और प्रोग्राम किए गए हैं ताकि वे मानव की तरह सोचें और कार्य करें । आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस हमारे दैनिक जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा बन जाता है। हमारा जीवन एआई (AI) द्वारा बदल दिया जाता है क्योंकि इस तकनीक का उपयोग दिन-प्रतिदिन की सेवाओं के एक विस्तृत क्षेत्र में किया जाता है। गूगल (Google) ने तो दूसरी रीजनल भाषाओं  और हिंदी (Hindi)  में Artificial intelligence से सम्बंधित सेवाओं को शुरू कर भी दिया है। 

हम में से ज्यादातर के लिए, AI  का अनुभव मुख्यतः  गैजेट्स और स्मार्ट स्पीकर जैसे चीजों के इस्तेमाल का है , या अपने चेहरे के साथ अपने फोन को अनलॉक करने का है। लेकिन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जीवन के अन्य क्षेत्रों में भी अपनी पहुँच बनाने को  तैयार है। इनमें से ही एक है हेल्थ केयर (Healthcare)। भारत में बहुत से अस्पताल ऐसे सॉफ्टवेयर का परीक्षण कर रहे हैं जो मधुमेह रेटिनोपैथी (Diabetic retinopathy) के लक्षणों के लिए किसी व्यक्ति के रेटिना की इमेज की जांच करता है और पहले ही रोग की सम्भावना को पकड़ सकता है , एक ऐसी स्थिति जो अक्सर दृष्टि हानि को रोकने के लिए बहुत देर से पता चलती  है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पहले से ही बहुत सारे अनुप्रयोगों में मौजूद है, खोज एल्गोरिदम और उपकरणों से आप विकलांगों के लिए बायोनिक अंगों के लिए हर दिन उपयोग करते हैं।

Advantages of Artificial Intelligenceफायदे :

टेक्नोलॉजी  में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को  सबसे गलत समझा जाने वाला विषय माना गया है ।  इसके साथ कई विवाद भी जुड़े हैं।  लेकिन फिर भी  आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मानव जीवन को बेहतर बनाने और तनाव को कम करने में मदद कर सकता है । यहां आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के फायदे दिए गए  हैं ।

 साइबर क्राइम रोकने में (Fraud Detection):

Online Fraud (ऑनलाइन फ्रॉड) या साइबर क्राइम (Cyber Crime) को रोकने में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence)  का उपयोग एक बहुत  महत्वपूर्ण कदम हो सकता है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस धोखाधड़ी और फ्रॉड (Fraud)  के केस में  डेटा विश्लेषण द्वारा धोखाधड़ी का पता लगाने में तैनात किया जा सकता है। सिस्टम द्वारा   लिंक (Link )और संभावित दिशा का पता लगाया जा सकता है, धोखाधड़ी को  आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के माध्यम से नियंत्रण करने  की सबसे अधिक संभावना है, जिसमें ट्रैक करने, ट्रेस करने के लिए संज्ञानात्मक प्रणाली में तैनात पिछले रिकॉर्ड का डेटा विश्लेषण शामिल है, और यहां तक कि उनके होने से पहले संभावित धोखाधड़ी कार्रवाई के बारे में पूरी तरह से पता होना भी शामिल है। 

डेटा  विश्लेषण Data Analysis:

हर कंपनी, संगठन और यहां तक कि सरकार के लिए निर्णय लेने की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है । एक भी त्रुटि एक बहुत बड़े निर्णय को प्रभावित कर सकती है  ऐसे लाखों करोड़ों डेटा संभव हैं जिनका विश्लेषण किया जाना चाहिए ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि निर्णय लेने से पहले हर एक पहलू को देखा गया है । डेटा विश्लेषण निर्णय लेने में सहायता करने के लिए कच्ची जानकारी निकालने, विश्लेषण करने और लागू  करने में मदद करता है।

स्वचालित सिस्टम(Automated System):

औद्योगिक क्षेत्र (industrial development) के विकास के बाद से, प्रौद्योगिकी (technology) के सुधार ने हमेशा कार्यों में सुधार करने के लिए स्वचालित प्रणालियों को मान्यता दी है और काम किया है। रोबोट के द्वारा अपना काम कराने में (Robotics) , होटल बुकिंग, ट्रैक्टर और फैक्टरी मशीन में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का परिचय सभी तेजी से कचरे को कम करने, त्रुटियों को कम करने और उत्पादन में सुधार के रूप में बहुत सारे फायदों के साथ स्वचालित होते जा रहे हैं ।

बिज़नेस और मार्केटिंग  (Business and Marketing):

डेटा एक डिजिटल अर्थव्यवस्था परिवर्तन के लिए सबसे महत्वपूर्ण ईंधन   है। मार्केटिंग में और बिज़नेस ग्रोथ में आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल सही रणनीति बनाने , ग्राहक को पहचानने , सही व्यक्ति तक सही विज्ञापन को पहुंचाने में किया जा सकता है।

Artificial Intelligence Course:

अगर आप अर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में अपना कर्रिएर बनाना चाहते हैं तो मैंने अर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कोर्स कराने वाले संस्थाओं की लिस्ट हिंदी (Artificial Intelligence Course in Hindi)  में  बनायीं है इनमे से कुछ ऐसे हैं जो फ्री में ऑनलाइन ट्रेनिंग देते हैं कुछ फुल टाइम पेड (Paid) कोर्स प्रोवाइड कराते हैं। 

Fee Online Artificial Intelligence Courses:

1 – भारतीय प्रद्योगिकी संस्थान, खडगपुर (IIT, Kharagpur)

2 – कैलिफोर्निया  प्रद्योगिकी संस्थान,(California Institute Of Technology,USA)

3 – स्टैनफोर्ड विश्विद्यालय (Stanford University), USA 

4 – गूगल AI – Google AI Education Free Online Course 

5 – Nvidia – Deep Learning and AI 

6 – कोलंबिया विश्वविद्यालय मशीन लर्निंग  (Columbia University Machine Learning)

भारतीय विश्वविद्यालय Indian University AI Course:

1 – मणिपाल विश्वविद्यालय (Manipal University)

– हैदराबाद  विश्वविद्यालय ( University Of Hydrabad)

3 – एमिटी विश्वविद्यालय (Amity University)

4 – चंडीगढ़ विश्वविद्यालय (Chandigarh University)

5 – शारदा विश्वविद्यालय ( Sharda University)

6 – गलगोटिया विश्वविद्यालय (Galgotia University)

7 – लवली प्रोफेशनल विश्वविद्यालय (Lovely Professional  University)

8 – वेल्लोर इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (VIT)

 उपसंहार (Conclusion):

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस(Artificial Intelligence) ज्ञान का एक अत्यंत चुनौतीपूर्ण और विशाल क्षेत्र है जो कई सवाल पैदा करता है और कई विवादों को उत्पन्न करता है। 

एक बुद्धिमान मशीन(Intelligent Machine) में कई विशेषताएं होनी चाहिए और कुछ विशेष मानकों के अनुरूप होनी चाहिए। उदाहरण के लिए, मानव जागरूक निर्णयों के बजाय मुख्य रूप से सहज निर्णयों का उपयोग करके तेजी से समस्या को हल करने में सक्षम है।

एक और पहलू यह  है कि शोधकर्ताओं ने काफी विश्लेषण किया है ज्ञान प्रतिनिधित्व (knowledge representation) जो दुनिया के बारे में ज्ञान को संदर्भित करता है कि बुद्धिमान मशीनों के क्रम में वस्तुओं या वस्तुओं की श्रेणियों, वस्तुओं के गुण, वस्तुओं के बीच संबंधों, जैसे कारणों और प्रभाव, परिस्थितियों, स्थितियों आदि के बीच उन लोगों के रूप में समस्याओं को हल करने के लिए होना चाहिए। 

कभी-कभी ऐसा लगता है जैसे हर दूसरी वेबसाइट, ऐप या उपकरण AI को सफलता के लिए अपने फीचर  में मुख्य गुण के रूप में बता रहा है। यदि आप एआई के बारे में ज्यादा नहीं जानते हैं, तो स्पष्टीकरण का अभाव भ्रामक हो सकता है। आज, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) का क्षेत्र पहले से कहीं अधिक जीवंत है और कुछ का मानना है कि हम खोजों की दहलीज पर हैं जो मानव समाज को अपरिवर्तनीय रूप से बदल सकती हैं, बहुत  बेहतर या बहुत  बदतर के लिए । 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बारे में हिंदी (Artificial Intelligence in Hindi ) में लिखने का मकसद यही था की आप इसकी उपयोगिता और आने  समय में इसकी महत्ता को पहचाने।  आज यह नौजवानों के बीच एक शानदार कर्रिएर ऑप्शन के रूप में भी है इसमें पैसा और काम की आज़ादी दोनों शामिल है। 

Artificial Intelligence in Hindi, Artificial Intelligence in Hindi, Online कारोबार, Online कारोबार

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *